लुधियाना शाहीन बाग में रंगों से तिरंगा बना कर दिया कौमी एकता का संदेश- भारत सर्व धर्मों का देश सी,ए,ए नफरत वाला कानून है – मुस्तकीम अहरार

लुधियाना शाहीन बाग में रंगों से तिरंगा बना कर दिया कौमी एकता का संदेश
– भारत सर्व धर्मों का देश सी,ए,ए नफरत वाला कानून है – मुस्तकीम अहरा
(Dawn India News) लुधियाना: 10 मार्च 2020 केंद्र सरकार के काले कानून के खिलाफ शहर की दाना मंडी में चल रहे शाहीन बाग प्रदर्शन के आज 28वें दिन बहुत बड़ी संख्या में महिलाएं पहुंची। इस अवसर पर विशेष कर हैबोबाल वल्लोकी से प्रधान नाजिम सलमानी, शहजाद हुसैन, इरफान, महफूज़ रहमान, आसिफ हुसैन, सलीम, रियाज, लियाकत, मुन्तजिर, असगर सलमानी और जालंधर से नासिर हुसैन, अब्दुल बारी, कय्यूम, मुज़म्मिल सलमानी की अध्यक्षता में काफिले पहुंचे। मंगलवार को शाहीन बाग में होली के त्यौहार के मद्देनजर बड़ी संख्या में लोगों ने हाजी सलीम जी से अपने चेहरे पर तिरंगे बनवा कर कौमी एकता और भाईचारे का संदेश दिया। प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए शाही इमाम पंजाब के मुख्य सचिव मुहम्मद मुस्तकीम अहरार ने कहा कि भारत सर्व धर्म का देश है और सी.ए.ए नफरत फैलाने वाला एक कानून है जिसे कबूल नहीं किया जाएगा। मुस्तकीम अहरार ने कहा कि आज लुधियाना शाहीन बाग में होली के दिन बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों ने पहुंच कर आपसी भाईचारे प्यार और मोहब्बत का जो संदेश दिया है उसकी मिसाल नहीं मिलती। उन्होंने कहा कि सी.ए.ए., एन.पी.आर. और एन.आर.सी के खिलाफ आंदोलन देशव्यापी है इसे सरकारी तंत्र अपनी साजिशों द्वारा रोक नहीं पाएगा। उन्होंने कहा कि आंदोलन में रोजाना बड़ी संख्या में पहुंचने वाली मां, बहने और बेटियां बधाई की पात्र हैं जिन्होंने देश भर के लोगों की नागरिकता बचाने के लिए कमर कसी हुई है।